मस्सा (Mole) शरीर पर कहीं कहीं काले रंग का उभरा हुआ मांस का छोटा दाना जो चिकित्साविज्ञान के अनुसार एक प्रकार का चर्मरोग माना जाता है। यह प्रायः सरसों अथवा मूँग के आकार से लेकर बेर तक के आकार का होता है। यह प्रायः हाथों और पैर पर होता है किन्तु शरीर के अन्य अंगों पर भी हो सकता है


मस्से की दवा


Mole Distractor 
ये दवा केवल बाहरी उपयोग के लिए है। बवासीर के लिए नही है।
पहले मस्से की दवा को माचिस की तीली या टूथपिक से हिला लें। दवाई केवल मस्से के उपरी सिरे पर ही लगाएं। नीचे त्वचा पर न लगे व इसे आंखों के पास न लगाएं। दवा लेने के 30 मिनट तक उस पर कपड़ा और पानी न लगे और अगर आप चाहे तो उसे 60 मिनट के बाद धो या साफ कर सकते है। अगर दवाई सुखने लगे तो इसमें 5 से 7 बूंदे पानी की डाल कर हिला ले और दवाई सूखने ने दे । दवाई का प्रयोग तब तक करते रहें जब तक मस्सा त्वचा के स्तर तक नहीं आ जाता। मस्सा उतरने के बाद उस पर 10 से 15 दिन तक नारियल का तेल प्रयोग करें।
(शुगर के मरीज इसका प्रयोग न करे।)
Website Created By : PublishYourApp Team